......तो ये थी असली Gully Boy की कहानी


+1 Likes (0)

आप सभी ने गुली बॉय का ट्रैलर देखा होगा और इतना तो समझ ही गए होंगे की गुली बॉय फिल्म रैपर्स के लाइफ से ताल्लुक रखती है. लेकिन शायद आपको ये नहीं पता होगा की ये फिल्म फिक्शन नहीं बल्कि सच्ची कहानी से प्रेरित है. और आज हम उसी कहानी के बारे में आपको बतायेगें.ये फिल्म नेजी और डिवाइन के ऊपर बनी हुई है, डिवाइन का रियल नाम विवान फर्नेंडिश है अपने करियर के शुरूआती दौर में ही विवान ने आपने नाम बदल कर डिवाइन रख लिया था. आपको बता दें की डिवाइन का बचपन स्लम एरिया में बीता उनके पापा अल्कोहलिक थे जिसके कारन इनके घर में फाइनेंसियल काफी दिक्कतें थी. डिवाइन की मां ने उनके घर की साड़ी जिम्मेदारी उठाई काम के चलते डिवाइन की मां को मिडिल ईस्ट में शिफ्ट होना पड़ा वो डिवाइन के लिए पैसे भेजा करती थे कुछ समय बाद उन्होंने सहास स्लम में अपना घर भी ख़रीदा था लेकिन डिवाइन के फादर ने उनका ये घर बेच दिया था.

gully boy

डिवाइन ने बताया

उनके फादर ने जब घर बेचा तो आधे पैसे मुझे और मेरे भाई को दे दिया.और हमारी लाइफ से उन्होंने हमेशा के लिए कटऑफ कर लिया.अपनी आर्थिक तंगी के कारण डिवाइन को अपने दादी के घर शिफ्ट होना पड़ा और वह रहकर ही उन्होंने हिप हॉप में रूचि लेना शरुरु किया. एक बार जब उन्होंने अपने एक दोस्त की टीशर्ट में अमेरिकन हिप हॉप आर्टिस्ट 50 सेंट की फोटो बनी हुई देखा तो उसने अपने दोस्त से 50 सेंट के बारे में पूछा जब डिवाइन के दोस्त ने उसे सबके बारे में बताया और तब से डिवाइन उन्हें फॉलो करने लगा. तब से उनके रैपर बनने का एम्बिशन शुरू हुआ. डिवाइन बताते है की वो सबसे ज्यादा इंस्पायर नैस से हुए है जिसके बाद से उन्होंने अपनी गली और अपने लोगों के बारे में लिखना शुरू किया. उन दिनों डिवाइन केवल इंग्लिश में ही रैप किया करते थे. काफी अच्छी तरह से रैप करने के बाद भी जब डिवाइन को अच्छा रिस्पॉंस नहीं मिला तो डिवाइन को समझ में आ गया की उनकी ऑडियंस उनके गानों तक नहीं पहुंच पा रही है इसके बाद उन्होंने हिंदी में रैप करना शुरु किया. उनका पहला हिंदी रैप ये मेरा बॉम्बे था जिसका रिस्पॉंस काफा अच्छा था. इस गाने को 2014 में रोलिंग स्टोन इंडिया ने बेस्ट म्यूजिक वीडियो का आवार्ड दिया. 2015 में डिवाइन का नया गाना आया ‘मेरी गली में’ जिसमें उनके साथ उनके दोस्त और अंडरग्राउंड रैपर नेजी भी नजर आए.ये उनके करियर का ब्रेक थ्रू सॉंग था. अगर नेजीके बारे में आपको बताये तो नेजी भी मुम्बई के स्लम में रहने वाला ही एक आम लड़का था जिसके टैलेंट ने आज रैपिंग इंडस्ट्री में उसकी अलग पहचान बनाई है.

gully boy

नेजी अपने घर में बेहद शांत और सीधा स्वाभाव में रहता था लेकिन घर से बहार निकलने के बाद वो बिलकुल अलग तरीके से रहता था. ये गाना पहली बार उन्होंने लाइव गाया था जिसका बहुत ही ज्यादा अच्छा रिस्पांस था जिसके बाद सोनी म्यूजिक ने उन्हे अपरोच किया था की वो गाना उनके लिए गाए.बीबीसी एसियन नेटवर्क के सेगमेंट फायर इन दा बूट में उन्होंने पर्फाम किया. वहां पर्फाम करके उन्होंने एक इतिहास लिख दिया जहां पर उन्होंने पहली बार हिंदी में रैप किया और वहां पर उनकी एनर्जी देखकर लोग हैरान रह गए. अगर आपको इस शो के बारे में बताए तो यहां पर ऐसे ही टैलेंटेड लोगों को बुलाया जाता है जहां वो अननोन बीट पर पर्फाम करते हैं.डिवाइन ने इस शो में 4 ट्यून्स पर फ्री-स्टाइल रैप किया था. डिवाइन आज जो कुछ भी है उसका पूरा क्रेडिट वो अपनी मां को देते हैं.जब डिवाइन पॉपुलर हो गए तब उन्होंने अपनी मां को वापस आने के लिए बोला की अब आपको काम करने की जरुरत नहीं है. जब डिवाइन से हनी सिंह के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इसपर बोला की वो जो हिप-हॉप करते है वो हिप-हॉप नहीं है वो बॉलीवुड के किसी गाने को लेकर ही अपना क्रियेट करते हैं. उनकी वीडियो में वो दारु, लड़किया, गाड़ी सबसे ज्यादा होती है जिससे मैं खुद को रिलेट नहीं कर पाता हूं.उनका कहना है की मैं कोशिश करुगा की मैं हमेशा ओथेंटिक गाने ही फैंस के सामने लेकर आउं. इंडेपेडिंली काम कपने के लिए डिवाइन ने सोनी म्यूजिक छोंडकर अपनी अलग स्टूडियो लॉन्च किया जिसका नाम रखा गल्ली गैंग नाम रखा. आपको बता दे की गुल्ली बॉय फिल्म केवल डिवाइन का पर ही नहीं लेकिन उन सभी अंडरग्राउंड रैपर्स पर आधारित है जो स्वतंत्र रैपर हैं. जिसकी शुरुआत डिवाइन का और नेजी ने किया था इसलिए इनका नाम पहले आता है.


Popular Videos


Comments